आतंकियों को हर जंग में मात देने वाले कर्नल नवजोत सिंह बाल, कैंसर से हार गए।

Share it on

इस तस्वीर में आपको जो मुस्कुराता हुआ चेहरा दिख रहा है, वह है कर्नल नवजोत सिंह बाल का। शौर्य चक्र से सम्मानित , 39 वर्षीय कर्नल नवजोत आज सुबह बेंगलूरु के एक अस्पताल में कैंसर से जंग हार गए।जवानों के लिए जीती जागती मिसाल नवजोत सिंह बाल, 2 पारा स्पेशल फोर्सेज़ में कमांडिंग ऑफिसर के रूप में नॉर्थरन कमांड्स आपरेशन सेक्शन में सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान कार्यरत थे।

नवजोत सिंह बाल, सेना में एक काफी लोकप्रिय शख्सियत थे, उन्होंने आतंकवाद को घाटी से मिटाने में कई बार अपना योगदान दिया है। सेना के ही एक जवान ने बताया कि कर्नल नवजोत सिंह बाल ने, एक बार अपने साथियों साथ आतंकियों का पीछा करते हुए दो आतंकियों को मार गिराया था। कैंसर के कारण अपना दाहिना हाथ गवांने के बाद भी कर्नल ने हार नही मानी और अपने दूसरे हाथ को गोली चलाने के लिए ट्रेन किया और देश की सेवा करते रहे।
कर्नल नवजोत सिंह बाल के निधन से जवानों के बीच काफी दुख का माहौल है।


Share it on
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

आतंकियों को हर जंग में मात देने वाले कर्नल नवजोत सिंह बाल, कैंसर से हार गए।

Share it on

इस तस्वीर में आपको जो मुस्कुराता हुआ चेहरा दिख रहा है, वह है कर्नल नवजोत सिंह बाल का। शौर्य चक्र से सम्मानित , 39 वर्षीय कर्नल नवजोत आज सुबह बेंगलूरु के एक अस्पताल में कैंसर से जंग हार गए।जवानों के लिए जीती जागती मिसाल नवजोत सिंह बाल, 2 पारा स्पेशल फोर्सेज़ में कमांडिंग ऑफिसर के रूप में नॉर्थरन कमांड्स आपरेशन सेक्शन में सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान कार्यरत थे।

नवजोत सिंह बाल, सेना में एक काफी लोकप्रिय शख्सियत थे, उन्होंने आतंकवाद को घाटी से मिटाने में कई बार अपना योगदान दिया है। सेना के ही एक जवान ने बताया कि कर्नल नवजोत सिंह बाल ने, एक बार अपने साथियों साथ आतंकियों का पीछा करते हुए दो आतंकियों को मार गिराया था। कैंसर के कारण अपना दाहिना हाथ गवांने के बाद भी कर्नल ने हार नही मानी और अपने दूसरे हाथ को गोली चलाने के लिए ट्रेन किया और देश की सेवा करते रहे।
कर्नल नवजोत सिंह बाल के निधन से जवानों के बीच काफी दुख का माहौल है।


Share it on
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button